नवरात्री के दूसरे दिन की पूजा विधि ” जानें माँ ब्रह्मचारिणी को प्रसन्न करने के उपाय “

नवरात्री के दूसरे दिन माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा की जाती है। माँ के एक हाथ में कमंडल और दूसरे हाथ में माला है, माँ ने भगवान शिव को पाने के लिए घोर तपस्या की थी जिसके बाद उनका नाम ब्रह्मचारिणी पड़ा।

माँ की पूजा करने की विधि इस प्रकार है, आप नहा कर साफ़ सुथरे वस्त्र धारण कर लें और हाथ में पुष्प और माला लेकर माँ को अर्पित करें और साथ ही साथ पंचामृत ( दूध, दही, घी, शक्कर और मधु ) से माँ को स्नान कराएं और तत्पश्चात फूल, सिन्दूर, अक्षत, चावल और कुमकुम अर्पित करें। माँ की पूजा में लाल फूल चढ़ाना शुभ फलदायक है। इसके बाद माँ को प्रसाद चढ़ाये और तीन बार प्रदक्षिणा करें अर्थात 3 बार अपनी जगह पर घूमें। ऐसा सब करने के बाद निम्नलिखित मंत्र का जाप करें।

माँ ब्रह्मचारिणी का मंत्र : ह्रीं श्रीं अम्बिकाये नमः

माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा से तप, संयम, सदाचार, त्याग और वैराग्य की वृद्धि होती है और माँ का आशीर्वाद प्राप्त होता hai.

आपको हमारा ये लेख कैसा लगा आपकी राय हमें कमेंट में सूचित करें। इसी प्रकार के अन्य रोचक जानकारियों के लिए हमारा वेबसाइट भक्ति संगीत को सब्सक्राइब अवश्य करें ताकि आप पा सके नए अपडेट सबसे पहले। हमसे जुड़ने के लिए और आपका प्यार देने के लिए आपका बहुत बहुत dhanyawad.

Leave a Comment